Tuesday, August 3, 2021

ड्राइविंग लाइसेंस के लिए RTO में नहीं घिसनी पड़ेगी चप्पलें, अब घर बैठे होगा सब काम

नई दिल्ली। गाड़ी से जुड़े कागजी कामों को कराने के लिए RTO में चप्पलें घिसनी पड़ती थीं, लेकिन अब हर काम घर बैठे हो जाएगा. दरअसल, ट्रांस्पोर्ट मिनिस्ट्री ने आधार बेस ऑथेंटिकेशन सर्विस चालू की है. यानी आधार कार्ड के जरिए ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट की कई सेवाओं का लाभ उठा पाएंगे. इसमें लर्निंग लाइसेंस बनवाना और रिन्यूवल जैसे काम शामिल हैं.

- Advertisement -

यह सारी सर्विसेज आपको भारत सरकार के वाहन पोर्टल पर मिलेगी. मिनिस्ट्री ने इसके बारे में नोटिफिकेशन जारी की है.

कौन-सी सर्विसेज हुई ऑनलाइन

ट्रांसपोर्ट मिनिस्ट्री ने 18 तरह की सर्विसेज को ऑनलाइन किया है. मिनिस्ट्री ने कहा है कि इस सिस्टम के आने से सहूलियत के साथ पारदर्शिता और दक्षता भी बढ़ेगी. इन सर्विसेज का फायदा ऑनलाइन उठाया जा सकता है-

  • लर्निंग लाइसेंस
  • ड्राइविंग लाइसेंस रिन्यूवल
  • डुप्लिकेट ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना
  • इंटरनेशनल ड्राइविंग पर्मिट लेना
  • किसी भी वाहन को अपने लाइसेंस से हटवाना
  • वाहन का अस्थायी रजिस्ट्रेशन
  • पूरी तरह से बनी बॉडी के वाहन का रजिस्ट्रेशन ( ट्रक और बस का दो बार रजिस्ट्रेशन होता है, एक बार बिना बॉडी के सिर्फ चेसिस का, फिर बॉडी लगने के बाद. अब चेसिस का रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन होगा.)
  • डुप्लिकेट रजिस्ट्रेशन सर्किफिकेट
  • रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट के लिए NOC का आवेदन
  • वाहन की ओनरशिप ट्रांसफर करने की नोटिस देना
  • वाहन के रजिस्ट्रेशन (RC) में पता बदलवाना
  • ड्राइविंग ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट के रजिस्ट्रेशन का आवेदन
  • डिप्लोमैटिक ऑफिसर के लिए वाहन रजिस्ट्रेशन का आवेदन
  • डिप्लोमैटिक वाहन के लिए खास तरह के चिन्ह के लिए परमिशन का आवेदन
  • वाहन को खरीदने और किराए पर लेने का कॉन्ट्रैक्ट
  • वाहन को खरीदने और किराए पर लेने के कॉन्ट्रैक्ट को खत्म करना

ट्रांसपोर्ट मिनिस्ट्री की तरफ से जारी की गई नोटिफिकेशन के मुताबिक इन सभी ऑनलाइन सुविधाओं का लाभ लेने के लिए वाहन पोर्टल पर जाना होगा. इसके लिए आपको अपने आधार कार्ड का नंबर डालना होगा. इसके बाद वेरिफिकेशन करके लॉग-इन करना होगा.

यदि किसी ने आधार कार्ड बनवाने के लिए आवेदन दे रखा है तो वह स्लिप आईडी के जरिए इन सुविधाओं का फायदा ले सकता है. मिनिस्ट्री ने नोटिफिकेशन पहले एक ड्राफ्ट जारी किया था. इसे आज से तीन हफ्ते पहले जारी किया गया था. इसमें नागरिकों को अपने ड्राइविंग लाइंसेंस और रजिस्ट्रेशन को आधार से जोड़ने का ऑप्शन दिया था.

यह भी पढ़ें- सरकार कर रही क्रिप्टोकरेंसी के नियमों मे फेर-बदल, बिटकॉइन में निवेश करने पर हो सकती है जेल

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

135FansLike

Latest Articles