Tuesday, August 3, 2021

1 अप्रैल से बदल जाएंगे सैलरी और बैंक से जुड़े 10 अहम नियम, जानें क्या पड़ेगा इसका आप पर असर

नई दिल्ली। नया वित्त वर्ष 1 अप्रैल से शुरू हो जाएगा. इसके साथ ही नौकरीपेशा, बैंक और पेंशनर से जुड़े कई नियम बदल जाएंगे. अगले महीने से जो नियम बदलने जा रहे हैं उनमें पीएफ में निवेश कर, नया श्रम कानून और आयकर रिटर्न समेत कई नियम हैं. हम आपको ऐसे ही 10 अहम नियम बताने जा रहे हैं ताकि आप इन बदलावों के लिए पहले से तैयार रहें.

1. पीएफ जमा पर टैक्स
आम बजट 2021-22 में पीएफ (कर्मचारी भविष्य निधि) को लेकर अहम घोषणाएं की गई थीं. इसमें कहा गया था पीएफ से मिलने वाले ब्याज पर टैक्स लगेगा. एक वित्त वर्ष में 2.5 लाख तक पीएफ में निवेश टैक्स के दायरे से बाहर रहेगा. अगर इससे ज्यादा निवेश किया तो ब्याज से होने वाली कमाई पर टैक्स देना होगा. यानी अगर आपने सालाना 4 लाख जमा किया तो 1.5 लाख रुपए पर ब्याज से जो कमाई होगी उसपर टैक्स स्लैब के हिसाब आपको कर देना होगा.
2. वेतन के लिए नए नियम
- Advertisement -

1 अप्रैल से नया श्रम कानून लागू हो जाएगा. साथ ही सरकार नया वेज कोड लाएगी. जिससे सैलरी में बदलाव होगा. नए नियम के मुताबिक कर्मचारी को इन हैंड मिलने वाली सैलरी में वेतन का 50% हिस्सा होना चाहिए. मतलब एक अप्रैल से पूरा सैलरी स्ट्रक्चर बदल जाएगा.

3. इनकम टैक्स रिटर्न होगा आसान

इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए 1 अप्रैल से व्यक्तिगत टैक्सपेयर्स को प्री-, फिल्ड यानी पहले से भरा हुआ फार्म मिलेगा. जिससे रिटर्न भरने में आसानी होगी.

4. वरिष्ठ नागरिकों नहीं भरना पड़ेगा टैक्स

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमन ने बजट 2021-22 में घोषणा की थी कि 75 साल अधिक उम्र के नागरिकों को टैक्स के दायरे से बाहर रखा जाएगा. 1 अप्रैल से यह नियम लागू हो जाएगा. लेकिन टैक्स से यह आजादी उन वरिष्ठ नागरिकों को मिलेगी जो पेंशन और पीएफ के ब्याज पर आश्रित हैं. इसके अलावा अन्य सभी आय वाले वरिष्ठ नागरिकों को इनकम टैक्स देना होगा.

5. रिटर्न दाखिल नहीं करने पर देना होगा दोगुना टीडीएस

सरकार ने आयकर अधिनियम के सेक्शन 206एबी में बदलाव किए हैं. इस नए बदलाव के अनुसार 1 अप्रैल 2021 से इनकम रिटर्न नहीं भरने पर दोगुना टीडीएस देना होगा. पहले टीडीएस और टीसीएल की दरें 5 से 10% होती थी लेकिन नए नियम मुताबिक यह दरें 10 से 20 पर्सेंट होंगी.

6. गाड़ी में ड्यूल एयर बैग हो जाएगा अनिवार्य

1 अप्रैल से सभी कारों के सेफ्टी मानक बदल जाएंगे. कर चालक के साथ साथ बगल वाली सीट के लिए भी एयर बैग अनिवार्य हो जाएगा.

7. इन बैंकों की चेकबुक हो जाएंगी बेकार

एक अप्रैल से कुछ बैंको की चेकबुक और पासबुक बेकार हो जाएंगी. इनमें विजया बैंक, कॉरपोरेशन बैंक, देना बैंक, आंध्रा बैंक, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया और इलाहाबाद बैंक शामिल हैं. अगर आपका खाता इन बैंकों में है तो अगले महीने जल्दी से अपने पासबुक और चेकबुक को बदला लीजिए. यह बदलाव इसलिए हो रहे हैं क्योंकि इन सात बैंको का विलय विभिन्न अन्य बैंको के साथ हो रहा है.

8. पेंशन फंड मैनेजर की फीस ज्यादा हो जाएगी

क्या आप पेंशन फंड में निवेश में करते हैं? अगर हां, तो इस नियम को जानना आपके किए बेहद जरूरी है. 1 अप्रैल से पेंशन फंड के मैनेजर अपने ग्राहकों से ज्यादा फीस ले सकते हैं. इसकी अनुमति पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलेपमेंट अथॉरिटी (PFRDA) ने दी है. PFRDA के इस कदम से इस सेक्टर में विदेशी निवेश को आकर्षित किया जा सकता है.

9. आय छुपाना हो जाएगा मुश्किल

पैन कार्ड के जरिए अभी तक आय और पीएफ ट्रैक किए जाते थे. जिसकी वजह से म्यूचुअल फंड और अन्य कमाई के जरिए ट्रैक नहीं हो पाते थे. लेकिन 1 अप्रैल से पैन को आधारकार्ड से लिंक करना अनिवार्य हो जाएगा. आधार लिंक होने के बाद सिस्टम ऑटोमैटिक आपके इन्वेस्टमेंट को ट्रैक करने लगेगा. जिससे आप कोई भी इन्वेस्टमेंट नहीं छुपा पाएंगे.

10. देर से टैक्स भरने पर देना होगा भारी शुल्क

कोरोना महामारी की वजह से वित्त वर्ष 2019-20 में टैक्स भरने की अवधि बढ़ा दी थी. लेकिन केंद्र सरकार वित्त विधेयक 2021 के तहत नियमों में बदलाव किए हैं. 1 अप्रैल के बाद से यदि आप दी गई समयावधि में टैक्स नही भरते हैं तो आपको ज्यादा विलंब शुल्क देना होगा.

यह भी पढ़ें- केंद्र सरकार ने बढ़ाया महंगाई भत्ता, कर्मचारियों की बल्ले बल्ले या फिर उनके साथ हुआ खेल

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

135FansLike

Latest Articles