Saturday, October 16, 2021

बजट: यूपी-बिहार में आज होगा आम बजट पेश, योगी-नीतिश की झोली में क्या होगा खास?

उत्तर प्रदेश और बिहार विधानमंडल में आज आम बजट पेश होगा। यूपी के सीएम योगी आदित्यानाथ की सरकार चुनावों से पहले अपना आखिरी और पांचवा बजट पेश करेगी। यह बजट राज्य वित्त मंत्री सुरेश खन्ना पेश करेंगे। वहीं, बिहार के डिप्टी सीएम तारकिशोर वित्त मंत्री के तौर पर अपना पहला बजट सदन के पटल पर रखेंगे।

- Advertisement -

बिहार में इस बार वित्तीय वर्ष 2020-21 के बजट का आकार करीब 2.11 लाख करोड़ से ज्यादा रहने की संभावना है। वहीं, यूपी के इतिहास में अब तक का सबसे बड़ा बजट पेश हो सकता है। इसका आकार 5.25 लाख करोड़ से लेकर 5.50 लाख करोड़ हो सकता है।

योगी सरकार के बजट में क्या होगा खास

इस बार के बजट में योगी सरकार किसानों, श्रमिकों, बेरोजगारों व महिलाओं को राहत देने के लिए नई योजनाएं ला सकती है। बजट में हर वर्ग की उम्मीद पूरी करने की कोशिश की जाएगी। कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य विभाग को बड़ा बजट देकर लोगों को मुफ्त कोरोना वैक्सीन देने की घोषणा हो सकती है।

योगी सरकार महिला सशक्तिकरण पर योजनाएं बना सकती है। इसके अलावा बजट में गांव में गंगा के किनारे गंगा आरती के लिए चबूतरा बनाने की रकम रखी जाएगी। चुनाव के दौरान स्कूल-कॉलेज में टैबलेट या लैपटॉप देने का वादा किया था, इस आम बजट में उसे पूरा किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें- बंगाल चुनाव से पहले CBI का बड़ा एक्शन, ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी के घर भेजा नोटिस

आम बजट में असंगठित क्षेत्र के एक करोड़ श्रमिकों को दुर्घटना और स्वास्थ्य बीमा का लाभ देने की तैयारी हो सकती है। तलाकशुद या परित्यक्ता महिलाओं के लिए छह हजार रुपए की पेंशन देने की योजना लाई जा सकती है। पिछली बार इसके लिए व्यवस्था नहीं हो पाई थी। मंडियों के आधुनिकीकरण के लिए बड़ी रकम रखी जा सकती है।

सुशासन के बजट से क्या मिलेगा बिहार की जनता को

बिहार के बजट में कोरोना के प्रभाव से उबरने के उपायों के साथ स्वास्थ्य सेवाओं पर फोकस रहेगा। साथ ही अच्छी गुणवत्ता वाली शिक्षा भी मुख्य बिंदु रहेगा। बजट में सात निश्च्य पार्ट-2 के जरिए आत्मनिर्भर बिहार के संकल्प को पूरा करने की कोशिश की जाएगी और खासकर बिहार के गांवों में खुशहाली पर ध्यान दिए जाने की संभावना है।

रविवार को बजट की सभी तैयारियों को अंतिम रूप दिया जाएगा। पिछले साल बजट में गैर योजना मद में 1,05,995 करोड़ और योजना मद में 1,07,766 करोड़ था। इस बार गैर मद में वृद्धि होने की संभावना है। इसके अलावा इस बजट में स्वस्थ्य बिहार की परिकल्पना दिखेगी। पीएमसीएच को विश्व प्रसिद्ध हॉस्पिटल बनाने के लिए राशि रखी जाएगी।

इस आम बजट में शिक्षा सबसे बड़ा कंपोनेंट रहने की उम्मीद है, जिसमें सरकार शिक्षा की गुणवत्ता पर ज्यादा फोकस करेगी।साथ ही गांव पर विशेष ध्यान देने की उम्मीद है। बिहार के गांवो को चमकाने की कोशिश की जाएगी।

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

135FansLike

Latest Articles