Thursday, August 5, 2021

क्या सच में OYO कंपनी ने खुद को कंगाल घोषित कर दिया?

बैंगलुरु। होटल बुकिंग कंपनी OYO के बारे में आप सभी जानते होंगे. यहां पर कभी न कभी आपने या आपके जान-पहचान के लोगों ने कमरा जरूर बुक किया होगा. बाहर जाने पर लोग सबसे ज्यादा OYO रुम्स ही बुक करते हैं. इसके पीछे की वजह यह है कि इनके होटल बाकियों से काफी सस्ते होते हैं और बुकिंग प्रोसेस में ज्यादा नाटक भी नहीं होता है. साथ ही ये हर जगह पर मिल जाते हैं.

- Advertisement -

इन दिनों OYO को लेकर एक मैसेज वायरल हो रहा है. जिसमें लिखकर आता है कि OYO कंपनी ने दिवालिया होने के लिए आवेदन किया है. बता दें, OYO के फाउंडर रितेश अग्रवाल ने इन खबरों को बेबुनियाद बताया है.

OYO को NCLT( National company law tribunal) अहमदाबाद की बेंच ने 31 मार्च को OYO की सहायक कंपनी OYO होटल्स एंड होम्स प्राइवेट लिमिटेड के खिलाफ कॉर्पोरेट इंसॉल्वेंसी को मंजूरी दे दी थी. यह मंजूरी 16 लाख रुपए बकाए के लिए दी गई थी. हालांकि, OYO ने NCLT के इस आदेश को चुनौती दी है. इसके बारे में OYO के फाउंडर रितेश अग्रवाल ने बताया. इसके साथ OYO के दिवालिया होने की खबर को लेकर सफाई भी दी.

रितेश अग्रवाल ने ट्वीट करके बताया कि कुछ टेक्स्ट मैसेज और PDF सर्कुलेट हो रहे हैं. जिसमें दावा किया जा रहा है कि OYO कंपनी ने दिवालिया के लिए आवेदन किया है. NCLT में याचिका के जरिए एक दावेदार ने OYO की सहायक कंपनी से 16 लाख रुपए की मांग की है. OYO ने दावेदार को यह रकम दे दी है. साथ ही इसे चुनौती भी दी है. OYO महामारी के असर से ऊभर रहा है और हमारी सबसे बड़ी मार्केट मुनाफे के साथ कारोबार कर रही है.

इससे पहले मार्च में OYO को लेकर खबर आई थी. जिसमें कहा गया कि नई कंपनी की कमाई में भारी गिरावट आई है. पिछले दो तीन महीनों में OYO ने अपनी को-वर्किंग स्पेस को बंद कर दिया है. साथ ही OYO लाइफ की रेंटल हाउसिंग बिजनेस को भी कम कर दिया है.

यह भी पढ़ें- तृणमूल ने बीजेपी पर लगाए कैश कूपन बांटने के आरोप, पार्टी ने कहा यह कूपन नहीं डोनेशन रसीद है

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

135FansLike

Latest Articles