Friday, October 15, 2021

नरेंद्र मोदी स्टेडियम नाम पर हुआ हंगामा, जानें सरकार ने क्या सफाई दी?

अहमदाबाद। मोटेरा में देश का सबसे बड़ा स्टेडियम बना है. हां, यह वही स्टेडियम है, जहां पर भारत और इंग्लैंड की टीमें पिंक बॉल टेस्ट मैच खेल रही हैं. तो पहले इसका नाम सरदार पटेल स्टेडियम था.

- Advertisement -

लेकिन जब राष्ट्रपति ने फीता काटकर स्टेडियम का उद्घाटन किया, तो पता चला इसका नाम नरेंद्र मोदी स्टेडियम है. तो फिर क्या था, विवाद शुरू हो गया. लोगों ने कहा कि यह सरदार पटेल का अपमान है. उनके नाम को बदलना सही नहीं है. इसको लेकर सोशल मीडिया पर पूरे दिन हंगामा मचा रहा और फिर सरकार को इस पर सफाई देनी पड़ी.

केंद्र सरकार ने कहा, कि सिर्फ मोटेरा स्टेडियम का नाम बदलकर नरेंद्र मोदी स्टेडियम किया गया है, जबकि पूरे कॉम्पलेक्स का नाम अब भी सरदार पटेल स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स है.

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने दी सफाई

गौरतलब है कि राष्ट्रपति कोविंड के द्वारा स्टेडियम का उद्घाटन होते ही इसके नाम को लेकर बहस शुरू हो गई. इस बहस में देश के युवा के साथ कांग्रेस के नेता भी शामिल थे. जब मामले ने तूल पकड़ ली, तो केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने ट्वीट कर सफाई दी और लिखा,

स्पोर्ट कॉम्पलेक्स का नाम सरदार पटेल स्पोर्ट्स एनक्लेव है. सिर्फ क्रिकेट स्टेडियम का नाम नरेंद्र मोदी स्टेडियम रखा गया है. विडम्बना है जिस परिवार ने सरदार पटेल की मौत के बाद उन्हें कभी सम्मान नहीं दिया, आज वह रो रहा है.

यह भी पढ़ें- अगर सरकार का काम बिजनेस करना नहीं है, तो क्या है? समझें विस्तार से

पहले गुजरात स्टेडियम था नाम

बता दें, सरदार पटेल के सम्मान में बने इस स्टेडियम को पहले गुजरात स्टेडियम के नाम से जाना जाता था. 1982 में पहली बार इसे दोबारा बनाया गया. गुजरात सरकार ने साबरमती नदी के पास 100 एकड़ की जमान दान की थी. दान की गई जमीन पर बने स्टेडियम का नाम सरदार पटेल स्टेडियम रखा गया. इस मैदान पर 1982 से लेकर 2016 तक 12 टेस्ट, 23 ODI और एक T20 मैच खेला गया है.

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

135FansLike

Latest Articles