Thursday, August 5, 2021

जवानों की शहादत पर असमी लेखिका के बिगड़े बोल, कहा- सैलरी लेने वाले जवान शहीद नहीं

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ के बीजापुर में 3 अप्रैल को नक्सलियों ने सुरक्षा बलों पर हमला कर दिया था. जिसमें 22 जवान शहीद और 31 घायल हो गए. इस पर एक 48 साल की लेखिका ने आपत्तिजनक टिप्पणी की. जिसके बाद मंगलवार को राजद्रोह के मामले में उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

- Advertisement -

दरअसल, असमी लेखिका शिखा सरमा ने नक्सली हमले में शहीद 22 जवानों को लेकर फेसबुक पर एक पोस्ट शेयर किया. जिसमें जवानों के शहीद के दर्जे को लेकर सवाल खड़े किए. इसके आधार पर उनके खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया और मंगलवार को गुवाहाटी से उन्हें गिरफ्तार किया गया.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक गुवाहाटी के पुलिस कमिश्नर मुन्ना प्रसाद गुप्ता ने बताया कि शिखा सरमा असम बेस्ड लेखिका हैं. उन्हें IPC की धारा 124 (राजद्रोह) के तहत गिरफ्तार किया गया है. बुधवार को उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा. शिखा सरमा सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं. सोमवार को उन्होंने नक्सली हमले को लेकर एक पोस्ट लिखा था.

शिखा ने फेसबुक पोस्ट में लिखा कि अपनी ड्यूटी के दौरान काम करते हुए मरने वाले पेशेवरों को शहीद का दर्जा नहीं दिया जा सकता है. इसके लिए उनको वेतन मिलता है. अगर इस तर्क से देखा जाए तो बिजली विभाग में काम करने वाला कर्मचारी जिसकी मौत बिजली के झटकों से हुई है तो उसे भी शहीद का दर्जा देना चाहिए. लोगों की भावनाओं के साथ न खेलो. शिखा सरमा की इस पोस्ट को देखकर लोग भड़क गए. लोगों ने इसकी कड़ी आलोचना की.

इस पोस्ट के वायरल होने के बाद गुवाहटी हाईकोर्ट के दो वकील उमी देका बरुहा और कंगकना गोस्वामी ने शिखा सरमा के खिलाफ दिसपुर पुलिस में शिकायत दर्ज की. FIR में वकीलों ने कहा कि यह हमारे देश के सैनिकों के सम्मान का अपमान है. इस तरह की आपत्तिजनक टिप्पणी न केवल सैनिकों के अद्वितीय बलिदान को कम करता है बल्कि देश सेवा की भावना और पवित्रता पर भी हमला करता है. शिकायकर्ताओं ने अधिकारियों से अनुरोध किया है कि शिखा सरमा पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए.

यह भी पढ़ें- सरकार ने सख्त एक्शन की बात कही तो नक्सलियों ने दिया ये बेतुका लॉजिक

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

135FansLike

Latest Articles