Saturday, October 16, 2021

संस्थानों में RSS के लोग हैं, बीजेपी को हराने के बाद भी उनसे छुटकारा नहीं मिलेगा: राहुल गांधी

नई दिल्ली। कांग्रेस सासंद राहुल गांधी ने मंगलवार को कॉर्नेल यूनिवर्सिटी के एक कार्यक्रम में प्रोफेसर कौशिक बसु के साथ बातचीत की. इस बातचीत के दौरान उन्होंने कई मामलों पर अपनी बात रखी. राहुल गांधी ने कहा कि मैं वो व्यक्ति हूं, जिसने युवा संगठन और छात्र संगठन में चुनाव को आगे बढ़ाया. इसे लेकर मीडिया में काफी आलोचना हुई. इन चुनाव के लिए मुझे लगभग सूली पर चढ़ा दिया गया और मेरी पार्टी के ही लोगों ने मुझ पर हमला किया.

- Advertisement -

उन्होंने कहा, मैं पहला व्यक्ति हूं जो यह कहता है कि पार्टी के भीतर लोकतांत्रिक चुनाव बेहद महत्वपूर्ण हैं. लेकिन मेरे लिए यह दिलचस्प है कि यह सवाल किसी और पॉलिटिकल पार्टी से नहीं पूछा जाता है. किसी ने भी इसके बारे में बीजेपी, बीएसपी और समाजवादी पार्टी से नहीं पूछा.

लेकिन वो हमेशा कांग्रेस पार्टी के बारे में पूछते हैं, क्योंकि हम एक वैचारिक पार्टी हैं और हमारी विचारधारा संविधान की विचारधारा है. इसलिए हमारे लिए लोकतांत्रिक होना बेहद जरूरी है.

मणिपुर के राज्यपाल काम नहीं कर रहे हैं: राहुल गांधी

राहुल गांधी ने कहा, मणिपुर के सांसदों का कहना है कि वहां पर राज्यपाल अपना काम नहीं कर रही है. वे सोचती हैं कि वो वैचारिक पद को संभाल रहे हैं न संवैधानिक. पुडुचेरी की राज्यपाल खुले तौर पर लोकतांत्रिक प्रक्रिया पर को प्रभावित करती हैं और बिलों को पास नहीं करती हैं, क्योंकि वह आरएसएस से जुड़ी हैं.

संस्थानों में आरएसएस के लोग हैं

उन्होंने कहा, आपातकाल के समय जो हुआ वो गलत था. लेकिन अब जो हो रहा है. उसके बीच एक बुनियादी अंतर है. कांग्रेस पार्टी ने कभी भारत के संवैधानिक ढांचे पर कब्जा करने की कोशिश नहीं की. आरएसएस कुछ अलग कर रहा है. वो संस्थानों में अपने लोगों को भर रहा है. अगर हम चुनाव में बीजेपी को हराते हैं तो भी हम संस्थानों में उनके लोगों से छुटकारा नहीं पा सकते हैं.

यह भी पढ़ें- कोविड सर्टिफिकेट में पीएम मोदी की तस्वीर पर बवाल, विपक्ष ने कहा बीजेपी का सेल्फ प्रमोशन

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

135FansLike

Latest Articles