Saturday, October 16, 2021

कैसे जीतेंगे कोरोना से जंग? कहीं वैक्सीन की कमी तो कहीं वेंटिलेटर खराब

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना की दूसरी लहर कहर बरपा रही है. इसी बीच केंद्र और राज्यों सरकारों के बीच वैक्सीन पॉलिटिक्स शुरु हो गई है. सबसे पहले महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि राज्य में कोरोना वैक्सीन की भारी कमी हो गई है. अगर जल्द ही वैक्सीन की नई खेप नहीं आई तो वैक्सीनेशन को रोकना पड़ेगा. अब उड़ीसा और राजस्थान ने केंद्र सरकार से मदद की गुहार लगाई है. उड़ीसा के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि राज्य में कोरोना वैक्सीन का अगले दो दिन का स्टॉक बचा है. वहीं, राजस्थान में वेंटिलेटर की कमी की समस्या सामने आई है.

वैक्सीन नहीं मिली बंद हो जाएगा वैक्सीनेशन
- Advertisement -

उड़ीसा के स्वास्थ्य मंत्री नाबा किशोर ने कहा कि इस समय राज्य में 5.34 लाख वैक्सीन की खुराकें बची हैं. हम रोज 2.5 लाख वैक्सीन देते हैं. अब हमारे पास अगले दो दिन का स्टॉक बचा है. इसके बारे में हमने केंद्र सरकार को लेटर लिखा है और कहा है कि अगले 10 दिन के लिए कम से कम 25 खुराकें भेजे. केंद्र से वैक्सीन आना बेहद जरूरी है. अगर वैक्सीन दो दिनों के अंदर नहीं आई तो हमें वैक्सीनेशन प्रोग्राम को यहीं रोकना होगा. हमारे 1400 में से 700 वैक्सीनेशन सेंटर बंद हो चुके हैं. हमें आशा है कि केंद्र सरकार जल्द ही हमारी मदद करेगी.

राजस्थान को मिले वेंटिलेटर खराब

वहीं, राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने कहा कि केंद्र सरकार ने राज्य को 1000 वेंटिलेटर दिए थे. लेकिन वेंटिलेटर्स ने दो-ढाई घंटे बाद दम तोड़ दिया. उन्होंने बताया कि सीएम अशोक गहलोत ने समीक्षा के दौरान यह मुद्दा उठाया था. केंद्र को इसके बारे में पता होना चाहिए. हमने केंद्र को वेंटिलेटर्स खराब होने की सूचना दी थी. इसमें कोई राजनीति नहीं है. हम बस उन्हें तकनीकी खामियां बता रहे हैं.

महाराष्ट्र के कई इलाको में वैक्सीनेशन बंद

इसके अलावा महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने मंगलवार को राज्य में कोरोना वैक्सीन की कमी होने का दावा किया था. उन्होंने कहा था, राज्य में वैक्सीन का सिर्फ 3 दिन का स्टॉक बचा हुआ है. साथ ही NCP नेता सुप्रिया सुले ने भी दावा किया कि पुणे में सौ से ज्यादा वैक्सीनेशन सेंटर बंद हो गए हैं. इसके पीछे वजह वैक्सीन की कमी होना है. वैक्सीन की कमी के चलते महाराष्ट्र के सतारा में भी वैक्सीनेशन को रोक दिया गया है.

यह भी पढ़ें- केंद्र और चुनाव आयोग को दिल्ली हाईकोर्ट की फटकार, पूछा-चुनावी रैलियों में मास्क जरूरी क्यों नहीं?

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

135FansLike

Latest Articles