Thursday, August 5, 2021

असम: रैली के दौरान कार्यकर्ता हुआ बेहोश, PM मोदी ने मदद के लिए भेजी अपनी मेडिकल टीम

नई दिल्ली। असम में दूसरे चरण की वोटिंग खत्म हो गई है. अब छह मई को तीसरे चरण के लिए मतदान होगा. इस तीसरे चरण के चुनाव के लिए सभी पॉलिटिकल पार्टियां जोर-शोर से प्रचार कर रही हैं. चुनाव से पहले आज पीएम नरेंद्र मोदी ने तामुलपुर में एक जनसभा का संबोधन किया. इस दौरान तभी एक घटना घटी, पीएम मोदी ने अचानक से अपना भाषणा रोक दिया और अपनी मेडिकल टीम को एक कार्यकर्ता के पास भेज दिया.

- Advertisement -

दरअसल, तामुलपुर में जब पीएम मोदी बीजेपी की तरफ से जनसभा को संबोधित कर रहे थे. उसी वक्त एक पार्टी कार्यकर्ता को पानी की कमी की वजह से कुछ तकलीफ हुई और वह बेहोश होकर गिर पड़ा. भाषण के दौरान जब पीएम मोदी की नजर उस पर पड़ी तो उन्होंने अपनी मेडिकल टीम को उसकी मदद के लिए भेज दिया.

मंच से पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि ये जो मेडिकल की टीम है, वो जरा वहां जाए, एक कार्यकर्ता को पानी के अभाव में कुछ तकलीफ हुई है. मेरे साथ जो डॉक्टर्स आए हैं, हमारे साथी की जाकर मदद करें. यहां का कोई अपना बंधु पानी के अभाव में तकलीफ हुई है.

जनसभा में भाषण की प्रमुख बातें

संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि मेरे राजनीतिक अनुभव के आधार पर, जनता के प्यार की भाषा, जनता के आशीर्वाद की ताकत पर मैं कहता हूं कि असम में एक बार फिर से हमारी सरकार बनेगी. असम में विकास हो रहा है, जिसने यहां के लोगों का और महिलाओं का जीवन आसान बनाया है. इस विकास से राज्य में कनेक्टिविटी बढ़ी है. असम का यह विकास नवजवानों के लिए नए अवसर बना है और बढ़ा रहा है.

उन्होंने कहा कि हमारी बनाई गई सभी योजनाएं सबके लिए होती हैं. हर क्षेत्र और वर्ग के लोगों, बिना किसी पक्षपात के, बिना किसी भेदभाव के हमने इन योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए हम कड़ी मेहनत करते हैं. देश में कुछ ऐसी बातें चल रही हैं जो बेहद गलत हैं. यदि हम भेदभाव करके, समाज को बांटकर और अपने वोट बैंक के लिए किसी को कुछ दे दें तो देश में उसे सेक्यूलरिज्म कहा जाता है. जो दुर्भाग्य की बात है.

पीएम मोदी ने जनसभा में कहा कि अगर हम बिना भेदभाव करे किसी के लिए काम करते हैं. तो उसे कम्युनल कहा जाता है. उन्होंने कहा कि सेक्युलरिज्म और कम्युनलिज्म के इस खेल ने देश का बहुत नुकसान किया है. हम कड़ी मेहनत करने वाले लोग है, दिन-रात समाज की सेवा करने वाले लोग हैं, ईमानदारी से विकास के लिए काम करने वाले लोग हैं.

यह भी पढ़ें- पंजाब: केंद्र सरकार की इस चिट्ठी ने पंजाब में हंगामा मचा दिया

 

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

135FansLike

Latest Articles