Tuesday, August 3, 2021

कर्ज के बदले मौत देने वाली चीनी कंपनी पर हुई बड़ी कर्रवाई

कर्ज एक बोझ है, चाहे वह एक हजार का हो या एक हजार करोड़ का. कर्ज लेने वाला डरता है कि कहीं कर्जा देने वाला सामने से पैसे न मांग ले. लोगों के इसी डर की वजह से एक चीनी ऐप लोगों के लिए काल बन गई है.

- Advertisement -

आपको यकीन नहीं होगा इस कोरोनाकाल में कुछ ऐसे घर है जहां पर लोगों के रोने की वजह एक चीनी ऐप है. दरअसल, चीन की कुछ कंपनियां ग्राहकों को लोन दे रही हैं. लोन देने के बाद वह ग्राहकों को डरा धमकाकर उनको खुदकुशी करने पर मजबूर कर रही हैं.

ईडी ने की संपत्ति जब्त

मामला सामने आने पर ईडी ऐसी कुछ कंपनियों पर अपना शिकंजा कसकर मनी लॉन्ड्रिंग की जांच कर रही है ईडी ने ऐसी कई चीनी कंपनियों और बड़ी वित्तीय कंपनी रेजर पे से जुड़ी 76.67 करोड़ की संपत्ति जब्त की है. केन्द्रीय जांच एजेंसी ने बताया कि यह जांच मनी लॉन्ड्रिंग अधिनियम के तहत ही रही है. जिसकी एफआईआर बेंगलुरु सीआईडी ने की थी.

सीआईडी को कुछ ग्राहकों की तरफ से शिकायत मिली थी. उन्होंने चीनी ऐप के जरिए लोन लिए थे. लोन न चुका पाने के कारण कंपनी के एजेंट उनकी प्रताड़ित कर रहे थे. ईडी ने सात चीनी कंपनियों पर कार्रवाई की है. इनमें से तीन वित्तीय तकनीकी कंपनियां है. ये सभी चीन के नियंत्रण में है.

भारी-भरकम ब्याज वसूलती थी कंपनी

जांच एजेंसी ने अपनी प्रारंभिक जांच में पाया कि ये चीनी लोन कंपनियां पहले लोगों को लोन लेने के लिए बोलती हैं. जो व्यक्ति इन कंपनियों से लोन ले लेता है ये उनसे भारी भरकम ब्याज और प्रक्रिया फीस वसूलती है.

ऐसी स्थिति में जब ग्राहक लोन चुकाने में असमर्थ हो जाता है तो ये कंपनियां ग्राहकों को फोन करके धमकी देती है और उन्हें प्रताड़ित करती है. लोन लेने के दौरान कंपनी ग्राहक की पर्सनल जानकारी हासिल कर लेती है. जिसके आधार पर कंपनी ग्राहकों को बदनाम करने की धमकी देती है.

यह भी पढ़ें- पुलिस क्यों कर रही ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट सुशील कुमार की तलाश?

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

135FansLike

Latest Articles