Thursday, August 5, 2021

राहुल गांधी के क्रोनी कैपिटलिज्म वाले बयान पर वित्त मंत्री ने दिया तीखा जवाब, पूछा- क्या मुद्रा योजना से ‘दामादों’ को लोन मिल रहा?

बजट पेश होने के बाद से राहुल गांधी लगातार केंद्र सरकार पर क्रोनी कैपिटलिज्म का आरोप लगा रहे हैं। बीते दिनों उन्होंने कहा था कि पहले नारा था हम दो हमारे दो। लेकिन मोदी सरकार ने इस नारे को अपनी आर्थिक नीति में लागू किया और कारोबारियों के लिए काम कर रही है।

- Advertisement -

राहुल गांधी के आरोप  पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बेहद तीखा जवाब दिया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने विपक्ष पर हमला करते हुए बोला क्या मुद्रा लोन योजना के तहत दमादों को लोन मिलता है?

राज्यसभा में आम बजट पर चर्चा के दौरान वित्त मंत्री ने कहा , मुद्रा लोन योजना के  तहत 27,000 करोड़ रुपए तक के कर्ज जारी किए गए हैं। मुद्रा योजना का लाभ किन्हें मिला है? दमादों को ?  इसके निर्मला सीतारमण ने डिजिटल ट्रांसजेक्शन में बढ़ोत्तरी होने की बात की है। उन्होंने  कहा कि अगस्त 2017 से जनवरी 2020 के दौरान 3.6 लाख करोड़ के डिजिटल ट्रांजेक्शन हुए हैं।

यह भी पढ़ें- किसान आंदोलन पर कनाडा ने की भारत सरकार की तारीफ, जानें क्या है इसकी वजह?

विपक्ष की तरफ से एक नैरेटिव सेट कर रही है

निर्मला सीतारमण ने कहा कि विपक्ष केंद्र सरकार के द्वारा गरीब के लिए किए जा रहे कामों को नजरअंदाज कर रही है और लगातार उस पर क्रोनी कैपिटलिज्म का आरोप लगा रही है। विपक्ष की तरफ से एक नैरेटिव सेट किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें- हमारे मंच और पंच वही हैं, सरकार आज बात करे या अगले साल, हम तैयार हैं’

सरकार सीधे तौर पर गरीबों की मदद रही है

उन्होंने कहा कि देश के 80 करोड़ गरीबों को मुफ्त राशन दिया गया था। इसके अलावा 8 करोड़ महिलाओं के महिलाओं के महिलाओं के नाम पर फ्री कुकिंग गैस दी जा रही है। 40 करोड़ रुपए गरीबों के खाते में डाले गए हैं। महिलाओं, दिव्यांगो, किसानों और और गरीबों को सरकार सीधे तौर पर मदद दे रही है। वित्त मंत्री ने कहा क्या इन सब योजनाओं से कारोबारियों को फायदा हो रहा है??

क्या ई-मार्केट से उद्योगपतियों को लभा हुआ है?- वित्त मंत्री

यही नहीं वित्त मंत्री ने पीएम आवास योजना का जिक्र करते हुए कहा, अब तक इस स्कीम से 1.67 करोड़ आवास पूरे हो चुके हैं। क्या यह अमीरों के लिए बने हैं? अक्टूबर 2017 के बाद से अब तक 2.67 करोड़ लोगों के घर बिजली पहुंचाई जा चुकी है। सरकारी ई-मार्केट पर अब तक 8,22,077 करोड़ रुपए के ऑर्डर प्लेस किए जा चुके हैं। क्या ये ऑर्डर बड़ी कंपनियों को मिले हैं?? यह सभी ऑर्डर लघु उद्योग को मिले हैं।

 

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

135FansLike

Latest Articles