Tuesday, August 3, 2021

उधर गाय को लेकर योगी ममता पर हमला बोल रहे थे, इधर यूपी में दर्जन गायों की मौत हो गई

ग्रेटर नोएडा। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जब बंगाल में बोल रहे थे, ममता दीदी बंगाल में गो हत्या पर प्रतिबंध नहीं लगा सकती है, क्योंकि उन्हें डर है कि कहीं उनका वोट बैंक न खिसक जाए. तभी दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश की एक गौशाला मे एक दर्जन गायों की मौत की खबर सामने आई थी.

- Advertisement -

दरअसल, 25 मार्च को ग्रेटर नोएडा में जलपुरा की गौशाला में एक दर्जन से ज्यादा गायों की मौत हो गई. गायों की मौत सामने आने के बाद ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अधिकार जांच में जुट गए. यह गौशाला ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अंडर में आता है.

इस घटना के सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने सवाल उठाने शुरु कर दिए. ट्वीटर पर एक यूजर ने सवाल करते हुए लिखा कि ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की गौशाला शमशान घाट बन गई है. इस हालत का जिम्मेदार कौन?

वहीं, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने योगी सरकार पर निशाने साधते हुए ट्वीटर पर लिखा, यूपी की गौशालाओं में ऐसे वीभत्स दृश्य अब आम हैं जो हमें झकझोरते हैं। अब इसकी तुलना कांग्रेस की छत्तीसगढ़ सरकार की गोधन न्याय योजना से करिए.

इस मामले को लेकर दलित कांग्रेस ने लिखा, योगी आदित्यनाथ का गौ प्रेम चुनावी रैलियों तक सीमित है। ये वीडियो ग्रेटर नोएडा की एक गौशाला का है। जहां दर्जनों गाय भूख-प्यास से मर गई। ये सिर्फ एक गौशाला की बात नहीं है बल्कि प्रदेश की सभी गौशालाओं में यही हाल है।

अभी तक इस बात की पुष्टि नहीं हुई कि गायों की मौत किस वजह से हुई है. ऐसा कहा जा रहा है कि गायों की मौत भूख-प्यास की वजह से हुई है. गायों की मौत की सूचना मिलते ही पशु चिकित्सा विभाग के डॉक्टरों की टीम गौशाला पहुंची. इनका पोस्टमार्टम किया जाएगा. इस गौशाला में कई गाय बुरी तरह से बीमार और मरी हुई अवस्था में मिली हैं.

गायों के मरने की जानकारी मिलने का बाद उड़ीसा के बीजू दल के सांसद अनुभव मोहंती जलपुरा गौशाला पहुंचे. उन्होंने ट्वीट करके लिखा कि जलपुरा स्थित की ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की गौशाला में आज भारी अव्यवस्था पायी। प्रशासनिक उदासीनता के कारण भुखमरी तथा इलाज के अभाव में गायों की मृत्यु के इस हृदयविदारक प्रकरण का संज्ञान लेने की कृपा करें। सीएम योगी आदित्यनाथ से तुरंत कार्रवाई के निर्देश दिए जाने हेतु आग्रह.

बता दें, इससे पहले भी जलपुरा गांव की इस गौशाला में गायों की मौत का मामला सामने आया था.पिछले साल सितंबर में इस गौशाला में करीब आधा दर्जन गायों की मौत हुई थी. हालांकि, उस वक्त गायों की मरने की वजह भूख नहीं कुछ और थी.

यह भी पढ़ें- बांग्लादेश दौरा: पीएम मोदी पहुंचे जशोरेश्वरी काली मंदिर, कहा- मंदिर में कम्यूनिटी हॉल बनावएंगे

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

135FansLike

Latest Articles