Saturday, October 16, 2021

New India: देश का पहला एयरपोर्ट जैसा रेलवे स्टेशन, देखें आधुनिक स्टेशन की तस्वीरें

भारत का पहला एयरपोर्ट के जैसे दिखने वाला रेलवे स्टेशन बन गया है। अब बस इसका उद्घाटन होना बाकी है। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने ट्विटर पर बेंगलुरु के इस स्टेशन की फोटो शेयर की है। इन तस्वीरों को देखकर आपको यकीन नहीं होगा कि यह रेलवे स्टेशन है। रेलमंत्री से पहले भारतीय रेलवे ने इसकी तस्वीरें शेयर की थी।

स्टेशन पर डिजिटल रियल टाइम पैसेंजर इंफॉर्मेशन सिस्टम

- Advertisement -

बेंगलुरु में बने इस रेलवे स्टेशन की खास बात यह है कि यह देश का पहला रेलवे स्टेशन है जो पूरी तरह से एसी सेंट्रलाइज्ड है। यानी पूरे स्टेशन में एसी लगी हुई है। इस रेलवे स्टेशन में एयरपोर्ट की तरह वीआईपी लॉन्ज भी बनाया गया है, जिसे लग्जरी टच दिया गया है। इसके अलावा स्टेशन पर डिजिटल रियल टाइम पैसेंजर इंफॉर्मेशन सिस्टम भी लगाया गया है। यह सिस्टम यात्रियों को ट्रेन के आने-जाने के समय के साथ-साथ न्यूज, एंटरटेनमेंट और इमंरजेंसी व सुरक्षा की भी जानकारी देगा।

centralized railway station

बेंगलुरु हवाई अड्डे को देखकर बनाया गया डिजाइन

इस नए रेलवे स्टेशन में आठ स्टेबल लाइनों और तीन पीट लाइनों के अलावा सात रेलवे स्टेशन हैं। भारतीय रेलवे का दावा है कि इस स्टेशन पर 50 ट्रेनों का संचालन किया जाएगा। इस सर एम विश्वेश्वरय्या टर्मिनल को बेंगलुरु हवाई अड्डे को देखकर बनाया है। इसमें ऊपर यात्रियों के वेटिंग रूम के साथ वीआईपी लाउंज भी बनाया गया है और भोजन करने की भी व्यवस्था बनाई गई है।

centralized railway station

यह भी पढ़ें- केंद्र सरकार ने मैपिंग पॉलिसी में किए अहम बदलाव, क्या बदल जाएगा गूगल मैप देखने का तरीका?

यात्रियों के एस्केलेटर और लिफ्ट की सुविधा

मिली जानकारी के मुताबिक, इस रेलवे टर्मिनल को बनाने में लगभग 314 करोड़ रुपए की लागत आई है। यह स्टेशन 4200 वर्गमीटर तक फैला हुआ है। टर्मिनल पर दो सबवे हैं और एक फुट ओवर ब्रिज बना हुआ है, जो सभी प्लेटफॉर्म को जोड़ता है। इसमें यात्रियों के लिए लिफ्ट और एक्सेलेटर की भी सुविधा है, जो सात प्लेटफॉर्मों को जोड़ती है।

पांच बीएमटी बसों के साथ 900 दोपहिया वाहन खड़ी करने की जगह

इस आधुनिक रेलवे स्टेशन में 4 लाख लीटर की क्षमता वाला रीसाइक्लिंग प्लांट भी लगाया गया है। वाटर रीसाइक्लिंग की मदद से पानी ती बर्बादी को रोका जाएगा। इसके साथ स्टेशन पर पार्किंग की पर्याप्त सुविधा है। अगर रेलवे की मानें तो यहां पर 250 कारों के साथ-साथ 900 दोपहिया वाहन, 50 ऑटोरिक्शा, पांच बीएमटी बसें और 20 टैक्सी खड़ी हो सकती हैं।

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

135FansLike

Latest Articles