Thursday, August 5, 2021

यूपी के चर्चित IPS अधिकारी को किया वक्त से पहले रिटायर, सरकार ने बताई ये वजह

उत्तर प्रदेश। यूपी के बहुचर्चित IPS अफसर अमिताभ ठाकुर को सरकार ने VRS ( voluntary retirement from service) दे दिया है. यानी समय से पहले रिटायर कर दिया है. अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने अधिसूचना पत्र जारी कर बताया कि गृह मंत्रालय के आदेशानुसार IPS अमिताभ ठाकुर को लोकहित सेवा में बनाए रखे जाने के उपयुक्त न पाते हुए, उन्हें अखिल भारतीय सेवाएं नियमावली-1958 के नियम -16 के तहत लोकहित में सेवा पूर्ण होने से पहले सेवानिवृत्त किया जा रहा है.

- Advertisement -

IPS अफसर पर कई गंभीप आरोप हैं

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, अमिताभ ठाकुर के साथ दो और IPS अफसर राजेश कृष्ण और राकेश शंकर को भी रिटायरमेंट दे दी गई है. इन अधिकारियों के ऊपर गंभीर अनियमितता के आरोप लगे हैं. IPS राजेश कृष्ण पर आरोप है कि उन्होंने आजमगढ़ पुलिस भर्ती में घोटाला किया है. वहीं, राकेश शंकर पर देवरिया शेल्टर होम प्रकरण में संदिग्ध भूमिका का आरोप लगा है.

रियारमेंट के बाद अमिताभ ने दी प्रतिक्रिया

सरकार के लोकहित में सेवानिवृत दिए जाने पर अमिताभ ठाकुर ने ट्वीट कर लिखा कि मुझे अभी-अभी VRS (लोकहित में सेवानिवृति) आदेश प्राप्त हुआ. सरकार को अब मेरी सेवाएँ नहीं चाहिये. जय हिन्द !  साथ ही दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा कि रिटायर होने के बाद मैने  पदभार छोड़ दिया है और सरकारी गाड़ी तथा ड्राइवर को वापस कर दिया है.

 

बेबाकी के लिए जाने जाते हैं अमिताभ ठाकुर

आपको बता दें, कि अमिताभ ठाकुर 1992 कैडर के IPS अफसर हैं. उनकी उम्र 53 साल है. वह झारखंड के बोकारों में पले-बढ़े हैं. अमिताभ ने मैकेनिकल इंजीनियरिंग से बीटेक किया था. अमिताभ ठाकुर बेबाकी से सरकार की आलोचना करने के लिए जाने जाते हैं. अखिलेश सरकार में मुलायम सिंह यादव के साथ इनका विवाद हुआ था. जिसका ऑडियो वायरल होने के बाद इन्हें सस्पेंड कर दिया गया था. इससे पहले भी अमिताभ कई बार सस्पेंड किए जा चुके हैं. उनकी पत्नी नूतन ठाकुर भी सरकार को सवालों के कठघरे में खड़ी करती हैं.

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

135FansLike

Latest Articles