Friday, October 15, 2021

राहुल गांधी के ‘दक्षिण भारत’ वाले बयान पर भड़की स्मृति इरानी, कहा- देश तोड़ने की राजनीति कर रहे राहुल गांधी

कांग्रेस नेता राहुल गांधी के दक्षिण भारत वाले बयान को लेकर सियासी संग्राम छिड़ गया है. इसको लेकर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कड़ी आलोचना की और कहा, राहुल गांधी के बयान की निंदा हर भारतीय को करनी चाहिए. दरअसल, राहुल गांधी ने तिरुवंतपुरम में वायनाड के तौर पर अपने अनुभव को शेयर किया था, जिसके बाद उन पर आरोप लगा कि उन्होंने अपने भाषण में उत्तर भारत के लोगों का अपमान किया है.

- Advertisement -

उनके इस बयान के चलते स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को एहसान फरामोश बताया और कहा, राहुल गांधी की राजनीति द्वेष से भरी हुई है, इस बदला लेने वाली राजनीति में न सिर्फ अमेठी के लोगों और मतदाताओं का अपमान हुआ बल्कि इससे दक्षिण भारत और उत्तर भारत को अलग करने की कोशिश की गई है. हर भारतीय को उनके बयान की निंदा करनी चाहिए.

 

स्मृति ईरानी ने आगे, यह पहली बार नहीं है, जब उन्होंने फूट डालो राज करो की राजनीति की है. उन्होंने असम में जाकर गुजरात के लोगों के लिए बयान दिया था. जिसका असर यह हुआ कि कांग्रेस को गुजरात के स्थानीय निकाय चुनाव में मुंह की खानी पड़ी. अब सवाल यह उठता है कि राहुल गांधी कब तक देश के लोगों से झूठ बोलते रहेंगे.

यह भी पढ़ें- बीजेपी में शामिल होने से पहले मैट्रो मैन का लव जिहाद पर बड़ा बयान, कहा- हिंदू लड़कियों को बरगलाया जा रहा

बता दें, तिरुवंतपुरम में एक सभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा, पहले 15 सालों के लिए मैं उत्तर भारत से सांसद रहा. वहां पर मुझे अलग तरह की राजनीति की आदत हो गई थी. लेकिन केरल आने के बाद मुझे अलग तरह का अनुभव हुआ क्योंकि यहां पर लोग मुद्दों में रुचि रखते हैं और ऊपरी तौर पर नहीं बल्कि विस्तार से मुद्दों में जाते हैं. उन्होंने कहा, केरल के लोग जिस बुद्धिमत्ता से राजनीति करते हैं. उससे उन्हें काफी कुछ सीखने को मिला.

राहुल गांधी 15 साल तक उत्तर प्रदेश में अमेठी के सांसद रहे हैं लेकिन पिछले लोकसभा चुनाव में स्मृति ईरानी ने उन्हें वहां से हरा दिया. इसके बाद उन्होंने केरल के वायनाड से चुनाव लड़ा, जहां पर वह जीत गए.

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

135FansLike

Latest Articles