Friday, October 15, 2021

अगर ज्यादा शराब पीते हैं तो सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला जरूर जान लें

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी को लेकर अहम फैसला सुनाया है. कोर्ट ने कहा कि यदि किसी व्यक्ति की मौत ज्यादा शराब पीने से होती है तो उसे इंश्योरेंस का क्लेम नहीं मिलेगा. इसके साथ कोर्ट ने मृत व्यक्ति की पत्नी के बीमा दावे को खारिज कर दिया, जिसकी मौत ज्यादा शराब पीने के कारण हुई थी. कोर्ट का कहना है कि बीमा कंपनी का काम किसी दुर्घटना से पहुंची चोट के मामले में मुआवजा देने का है.

- Advertisement -

दरअसल, कोर्ट ने यह फैसला हिमाचल प्रदेश राज्य वन में तैनात चौकीदार के कानूनी उत्तराधिकारी नर्बदा देवी की याचिका पर सुनाया है. शिमला में 7-8 अक्टूबर 1997 की आधी रात को इस चौकीदार की मौत हुई थी. पोस्टमार्ट रिपोर्ट में मौत की वजह ज्यादा शराब पीने से दम घुटना बताया गया है. नर्बदा देवी ने इंश्योरेंस कंपनी से क्लेम मांगा. लेकिन कंपनी ने इस मौत को एक्सीडेंट से मौत मानने से इंकार दिया.

इसके बाद नर्बदा उपभोक्ता कोर्ट गई. राष्ट्रीय उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग ने भी इसे दुर्घटना से मौत मानने से इंकार कर दिया. फिर केस सुप्रीम कोर्ट पहुंचा. सुप्रीम कोर्ट ने उपभोक्ता कोर्ट के फैसले को बरकरार रखा.

नर्बदा देवी की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इस तरह की मृत्यु को दुर्घटना से होने वाली मौत की श्रेणी में नहीं रखा जाता है. मृत व्यक्ति की पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी इस बात की पुष्टि करती है कि मरने वाले शरीर पर किसी तरह के चोट के निशान नहीं थे. इसलिए बीमा पॉलिसी के तहत ऐसी स्थिति में मुआवजा देने का दायित्व बीमा कंपनी का नहीं होता है.

कोर्ट ने कहा, इंश्योरेंस पॉलिसी क्लेम करने के नियम साफ हैं. इनमें कहा गया है कि एक्सीडेंट के तौर पर अगर किसी मौत होती है तो इंश्योरेंस के क्लेम का हकदार हो सकता है. इस मामले में हम यह देखने में नाकाम रहे कि मौत का कारण क्या है. मामले के तथ्यों और परिस्थितियों को देखते हुए राष्ट्रीय आयोग के 24 अप्रैल, 2009 के आदेश में हस्तक्षेप का कोई कारण नहीं दिखाई देता है.

बता दें, कि हिमाचल प्रदेश जनता पर्सनल इंश्योरेंस स्कीम के तहत मृतक का बीमा कराया गया था. इस स्कीम में दुर्घटना होने पर 1 लाख रुपए की राशि मिलने का प्रावधान है.

यह भी पढ़ें- दलित युवक के मुस्लिम लड़की से शादी करने पर भड़का मुस्लिम समुदाय

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

135FansLike

Latest Articles