Saturday, October 16, 2021

धरती के स्वर्ग की बदल रही है हवा, 31 साल बाद बजी मंदिर में घंटी, आतंकवाद की वजह से था बंद

जम्मू-कश्मीर लंबे अरसे आतंकवाद से जूझ रहा है, लेकिन अब वहां के हालात बदलने लगे हैं। आतंकवाद और हिंदूओं के पालायन की वजह से श्रीनगर में 31 साल एक मंदिर बंद पड़ा था, उसे बसंत पंचमी के शुभ अवसर पर खोल दिया गया है। मंदिर खुलने के बाद लोगों ने पूजा अर्चना की है।

- Advertisement -

Shital Nath temple story

न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, मंगलवार को बसंत पंचमी के दिन श्रीनगर के हब्बा कादल में 31 साल बाद शीतल नाथ मंदिर खोला गया। इस मौके पर मंदिर में भक्तों के द्वारा विशेष पूजा का आयोजन किया गया।

Pooja at Kashmir mandir

मंदिर खुलवाने में मुस्लिमों ने की मदद

मंदिर में पूजा करने आए एक भक्त संतोष राजदान ने बताया कि उन्हें मंदिर को फिर से खोलने के लिए स्थानीय लोगों विशेष रूप मुस्लिम समुदाय के लोगों का भारी समर्थन मिला है। उन्होंने कहा, 31 साल के बाद शीतल नाथ फिर से खुल गया। पहले लोग यहां पर पूजा करने आते थे, लेकिन आतंकवाद की वजह से इसे बंद कर दिया गया था। मंदिर के पास रहने वाले हिंदू चले गए थे, ज्यादतर मुस्लिम समुदाय के लोगों ने हमारी मदद की है।

Ravindra Rajdaan Kashmir temple

 

शीतलनाथ मंदिर में पूजा का आयोजन करने वाले में से एक आयोजक रविंदर राजदान ने बताया कि इस पहल में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने बहुत आवश्यक सहयोग प्रदान किया है और वे भी मंदिर सफाई के लिए आगे आए हैं। उन्होंने कहा, बाब शीतल नाथ की जयंती हर साल बसंत पंचमी को पड़ती है। हम हर साल इसकी पूजा करते हैं। इसके लिए हमारे मुस्लिम भाई-बहन ने पूजा का सामान लाए। इस दिन को हम बेहद धूमधाम से मनाते हैं।

Shital Nath Mandir

 

घाटी में आंतकवादी हिंसा में आई कमी

गौरतलब है, 2019 में आर्टिकल 370 हटने के बाद से जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी हिंसा के मामले में कमी आई है। आर्टिकल 370 को खत्म करने के साथ ही जम्मू-कश्मीर को दो केंद्र शासित राज्य कश्मीर और लद्दाख में विभाजित कर दिया था।

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

135FansLike

Latest Articles