Thursday, August 5, 2021

सुप्रीम कोर्ट में कुरान के खिलाफ डाली याचिका खारिज, वसीम रिजवी पर लगाया 50 हजार का जुर्माना

नई दिल्ली। शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन सैयद वसीम रिजवी ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका डाली थी. जिसमें उन्होंने कुरान की 26 आयतों को हटाने की मांग की थी. इस याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया है. इसके साथ ही रिजवी के ऊपर 50 हजार की जुर्माना लगाया है.

- Advertisement -

दरअसल, 12 अप्रैल 2021 को सुप्रीम कोर्ट ने कुरान से 26 आयतों को हटाने वाली याचिका को खारिज कर दिया. आरोप था कि कुरान की यह 26 आयतें भारत के कानून का उल्लंघन करती हैं और उग्रवाद को बढ़ावा देती हैं. बता दें, कि वसीम रिजवी की इस याचिका पर सुप्रीम कोर्ट के जज रोहिंटन फली, बीआर गवई और हृषिकेश रॉय की बेंच ने सुनवाई की.

उठाए थे हिंसा पर सवाल

वसीम रिजवी के याचिका दाखिल करने के पीछे तर्क था कि कुरान की इन 26 आयतों में से कुछ आयतें ऐसी हैं जो आतंकवाद को बढ़ावा देती हैं. उनका कहना है कि जब कुरान में अल्लाहताला ने भाईचारे, प्रेम, खुलूस, न्याय, ,समानता, क्षमा और सहिष्णुता की बातें कही हैं, तो वह इन 26 आयतों में कत्ल, नफरत और कट्टरवाद बढ़ाने वाली बात कैसे कर सकते हैं.

जान से मारने की मिली धमकी

जब वसीम रिवजी ने कुरान की 26 आयतों को हिसंक बताकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका डाली तो उन्हें चरमपंथी और मुस्लिम विरोधी संगठनों का एजेंट कहा गया. इतना ही नहीं शियाने हैदर-ए-कर्रार वेलफेयर एसोसिशन के अध्यक्ष हसनैन जाफरी डंपी ने वसीम रिजवी का सिर काटकर लाने को कहा और साथ ही कहा जो सिर काटकर लाएगा उसे 20 हजार रुपए इनाम दिया जाएगा.

परिवार ने छोड़ दिया साथ

शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन सैयद वसीम रिजवी को यह याचिका डालना काफी भारी पड़ा. वसीम रिजवी की तालकटोरा के कर्बला में बनी हयाती कब्र को तोड़ दिया गया. यहां तक उनके छोटे भाई यह कह दिया कि उनके परिवार का वसीम रिजवी से कोई नाता नहीं है.

यह भी पढ़ें- कर्नाटक: उपद्रवियों ने लाइब्रेरी को किया आग के हवाले, जलकर राख हुई गीता की 3000 प्रतियां

 

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

135FansLike

Latest Articles