Tuesday, August 3, 2021

आखिर कश्मीर के IG ने ऐसा क्यों कहा कि आतंकी मस्जिदों का गलत इस्तेमाल कर रहे हैं?

श्रीनगर। जम्मू- कश्मीर आतंकवाद को जड़ से खत्म करने के लिए सुरक्षाबलों ने हमेशा एड़ी चोटी का जोर लगाया है लेकिन आतंकवादी मस्जिदों की आड़ में गोलाबारी करते हैं और वहां से भाग निकलने में कामयाब होते हैं. ऐसी घटनाएं एक बार नहीं बल्कि बार-बार सामने आई हैं.

- Advertisement -

इस बारे में कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने सोमवार को बताया कि पंपोर, सेपोर और शोपियां में आतंकवादियों ने बार-बार मस्जिदों का गलत इस्तेमाल किया है. उनके मुताबिक 19 जून 2020 में पंपोर में आतंकवादियों ने मस्जिद की आड़ में सुरक्षा बलों पर हमला किया. बिल्कुल इसी तरह का हमला 1 जुलाई 2020 सोपोर में और 9 अप्रैल 2021को शोपियां में देखने को मिली है, उन्होंने कहा कि इस तरह के काम की निंदा करनी चाहिए और मीडिया, नागरिकों, मस्जिद इंतिजामिया के लोगों को साथ देना चाहिए.

9 अप्रैल को सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई. जिसमें कुल पांच आतंकवादी मारे गए थे. इस मामले में भी आतंकी मस्जिद के अंदर से गोलाबारी कर रहा था. मस्जिद को कोई नुकसान नहीं पहुंचें इसके लिए सुरक्षाबलों ने आतंकी के भाई और मौलाना को अंदर भेजा. लेकिन उनकी कोशिश पूरी तरह नाकाम रही और आतंकियों ने फिर से गोलियां चलाना शुरु कर दिया. हालांकि, सुरक्षाबलों ने आतंकियों को उस समय ढेर कर दिया, जब वे मस्जिद से बाहर निकल रहे थे.

आईजी ने बताया कि 19 जून 2020 को पंपोर में सुरक्षाबलों और आतंकियों की बीच हुई मुठभेड़ में तीन आतंकी मारे गए थे. मारे गए ये आतंकी मस्जिद में शरण लेने के लिए घुस गए थे. 1 जुलाई 2020 को सोपोर में बिल्कुल ऐसी स्थिति सामने आई थी. एक मस्जिद से आतंकियों ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस पर गोलाबारी कर दी थी. जिसमें एक जवान और नागरिक की मौत हो गई थी. इसके अलावा तीन कर्मियों को चोट लग गई थी.

यह भी पढ़ें- J&K: शोपियां एनकाउंटर में 3 आतंकी ढेर, 14 साल का नाबालिग भी शामिल, सर्च ऑपरेशन जारी

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

135FansLike

Latest Articles