Tuesday, August 3, 2021

अर्जेंटीना में महिलाएं बिना कपड़ो में क्यों प्रदर्शन कर रही हैं?

वर्ल्ड न्यूज़ डेस्क। अर्जेंटीना दक्षिण अमेरिकी महाद्वीप का एक देश है. इस देश की राजधानी ब्यूनस आयर्स है. पिछले कुछ दिनों से ब्यूनस आयर्स की सड़कों पर एक खास तरह के पोस्टर दिखाई दे रहे है. इस पोस्टरों में लिखा है फेमिसिडा. जिसका मतलब है औरत की हत्या करने वाला. इन पोस्टर्स को हाथ में लिए महिलाएं जोर-जोर से नारे लगा रही हैं कि

हमें न्याय चाहिए. हमें रात में सड़कों पर चलने की आजादी चाहिए. अपने मन के कपड़े पहने की आजादी चाहिए.

- Advertisement -

सड़कों पर उतरी ये महिलाएं उन हत्यारों के लिए भी सजा की मांग कर रही हैं. जिन्होंने न जाने कितनी महिलाओं और लड़कियों को मौत के घाट उतार दिया है. इसके अलावा देश की न्यायिक, सामाजिक, सांस्कृतिक और आर्थिक ढांचे में फेमिनस्ट सुधार की मांग कर रही है. कुछ दिनों पहले महिलाओं ने राजधानी के सुप्रीम कोर्ट के सामने कपड़े उतार कर प्रदर्शन किया. उनके इस तरह के प्रदर्शन की चर्चा की देशों में हुई.

protest against femicide

क्या है आंदोलन की वजह?

अर्जेंटीना में यह आंदोलन 18 साल की उर्सुला बहीलो की हत्या के बाद शुरू हुआ. एसोसिएट प्रेस के अनुसार, ब्यूनस आयर्स के कस्बे रोजास में उर्सुला बहीलो नाम की लड़की रहती थी. 8 फरवरी को उसकी हत्या कर दी गई. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बहीलो के बॉयफ्रेंड माटियास इजेक्विएल मार्टिनेज पर हत्या का आरोप लगा है. मार्टिनेज एक पुलिस कर्मचारी था.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बहीलो के शरीर पर गहरी चोट के निशान पाए गए हैं. उसे कसाई वाले चाकू से बड़ी बेरहमी से मारा गया. हत्या से ज्यादा महिलाएं इस बात से गुस्सा हैं कि बहीलो ने कई बार अपने बॉयफ्रेंड के खिलाफ पुलिस में शिकायत की थी. मार्टिनेज के खिलाफ पुलिस ने रीस्ट्रेनिंग ऑर्डर भी जारी किया था. लेकिन उसका पालन नीं किया और बहीलो की हत्या हो गई. बता दें, रीस्ट्रेनिंग ऑर्डर एक लीगल ऑर्डर होता है. जिसके तहत व्यक्ति, संस्थान या समूह को सरकार की तरफ से सुरक्षा प्रदान की जाती है.

यह भी पढ़ें- अरबी पढ़ने पर लगाया बैन, तोड़े कई इस्लामिक गुंबद, जानें कैसे उइगर के बाद उत्सुल मुस्लिमों को बर्बाद कर रहा ड्रैगन

बहीलो के शिकायत दर्ज करने के बाद भी उसे न बचा पाने के कारण देश की महिलाओं का गुस्सा प्रशासन और सरकार पर फूट पड़ा है. वे सड़क पर विरोध-प्रदर्शन कर रही हैं. फिर इसके बाद अर्जेंटीन की न्यूज में इसी तरह के और भी मामले सामने आने लगे. ला फालडा होटल में इवाना मोडिका नाम की एक महिला की हत्या की खबर सामने आई है. इस मामले में उसके बॉयफ्रेंड ने अपना अपराध स्वीकारा है. वहीं इसी तरह का एक और मामला सामने आया है मिरियाम बियट्रिज फारियास नाम की महिला को कोरडोबा में जला दिया गया. इस महिला का बॉयफ्रेंड भी पुलिस में था.

महिलाओं के खिलाफ बढ़ती हिंसा को लेकर हो रहे आंदोलन में एक महिला ने एसोसिएट प्रेस से कहा कि

हर जगह महिलाों के खिलाफ हिंसा हो रही है. हम सब ऐसी किसी न किसी महिला को जानते हैं. जिसकेसाथ हिंसा हुई है. लेकिन देश की न्याय व्यवस्था इसके खिलाफ कुछ नहीं करती है. आप पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराने जाते हैं, वह आपको देखते हैं. शिकायत दर्ज भी हो जाती है. लेकिन रीस्ट्रेनिंग ऑर्डर नहीं आता है. यह तब आता है जब और की मौत हो चुकी होती है.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, 2020 में अर्जेंटीना में लगभग 300 महिलाओं की हत्या हो चुकी है. मुमाला नाम का फेमिनिस्ट ऑर्गेनाइजेशन के मुताबिक 2021 कके शुरुआत में अबत 43 महिलाओं की हत्या हुई है. सिर्फ अर्जेंटीन में ही महिलाओं की हत्या हो रही है. होंडुरास, अल-सल्वाडोर, डॉमिनिकल रिपब्लिक और मेक्सिको में  भी महिलाओं के खिलाफ हिंसा में काफी इजाफा हुआ है.

 

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

135FansLike

Latest Articles