Tuesday, August 3, 2021

हाथरस: छेड़छाड़ की एक घटना महिलाओं के जीवन को तहस-नहस कर देती है

यूपी। उत्तर प्रदेश के हाथरस में नौजरपुर गांव है. इस गांव में अंबरीश शर्मा अपने परिवार के साथ रहते थे. साल 2018 में अंबरीश की बेटी के साथ छेड़छाड़ हुई. बेटी के साथ छेड़छाड़ होने के बाद अंबरीश ने गौरव शर्मा के खिलाफ पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कर दी.

- Advertisement -

गौरव ने अंबरीश पर केस वापस लेने का दबाव बनाया. पर वह नहीं माने. गौरव ने बात न मानने पर उनकी हत्या कर दी. अंबरीश की हत्या यूपी के कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हैं. इस घटना से समझा जा सकता है कि छेड़छाड़ के बाद एक लड़की की जिंदगी में किस तरह से उथल-पुथल मच जाती है.

amrish story
पीड़िता के पिता अंबरीश शर्मा, छेड़छाड़ के मामले में शिकायत दर्ज करने पर गौरव शर्मा ने हत्या कर दी.

अंबरीश के घर पर अब सांत्वना देने वालों की भीड़ धीरे-धीरे कम हो रही है. रिश्तेदार भी घर लौटने लगे हैं. बेटी बदहवास मां को संभलते हुए बात करते समय रो देती है. बड़ी मुश्किल से उसने अपने आंसुओं को रोका और बताया कि उसने 2017 में BSc लास्ट ईयर का पेपर पास किया है. 2018 में उसके साथ छेड़छाड़ की घटना हुई थी.

टीचर बनना चाहती थी पीड़िता

इस घटना से उसके पापा काफी डर गए थे. जिसकी वजह से उसकी पढ़ाई रुक गई. खुद को संभालते हुए उन्होंने बताया, वह फिजिक्स, कैमिस्ट्री और मैथ्स से BSC करने बाद टीचर बनना चाहती थी. पापा पूरी तरह से मदद कर रहे थे. लेकिन जब छेड़छाड़ की घटना हुई तो उसके बाद से पापा को लगने लगा कि उसके साथ कुछ हो न जाए. वह कुछ कर भी नहीं पाई. समय बीतता चला गया पर वह इसमें फंसी रही.

शिकायत दर्ज करने कीमत जान देकर चुकानी पड़ी

पिता अंबरीश के शिकायत दर्ज कराने से पहले गौरव शर्मा ने कई बार उनके साथ छेड़छाड़ की थी. लेकिन सामाज के डर से उन्होंने किसी से कुछ नहीं कहा. जुलाई 2018 में गौरव ने अपनी मर्यादा पार कर दी. वह हमले के उद्देश्य से घर में घुस गया. इसके बाद उन्होने पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज की. अंबरीश ने बेटी के सम्मान के साथ समौझता नहीं किया. इसकी कीमत उन्हें अपनी जान देकर चुकानी पड़ी.

गौरव अंबरीश की बेटा से शादी करना चाहता था

पीड़ित परिवार और गांव के लोगों ने बताया कि गौरव शर्मा अंबरीश की बेटी से शादी करना चाहता था. लेकिन इसके लिए वह तैयार नहीं थे. उनकी भाभी ने बताया कि उसने हमारी बेटी से भी शादी की बात चलाई थी, लेकिन हमने मना कर दिया. हम अपने परिवार की बेटी ऐसे बिगड़े हुए लड़के को कैसे दे सकते हैं? शादी से मना करने के बाद गौरव ने अंबरीश और उसके परिवार को परेशान करना शुरू कर दिया.

गौरव दबंग और राजनीतिक रसूख रखने वाला है

गौरव का परिवार बहराईच का है. उसके पिता 90 के दशक में पहले गांव आए थे. वे कई साल तक नौजरपुर में रहे. लेकिन जब उनकी सरकारी नौकरी लग गई तो वह गांव से चले गए.

गौरव अपनी मौसी से मिलने गांव आता था और महीनो रहता था. गांव के लोग दबी आवाज में बताते हैं कि गौरव शर्मा का बैकग्राउंड दबंग और राजनीतिक है. नौजरपुर के आस-पास के लोग उसे रुद्राक्ष पंडित बोलते हैं. मुकदमा दर्ज कराने और शादी से मना करने के बाद वह अंबरीश के परिवार को बहुत तंग करने लगा था.

कानून व्यवस्था पर पीड़िता ने उठाए सवाल

अबंरीश की एक बड़ी बेटी भी है. लेकिन उसकी शादी हो चुकी है. छोटी बेटी ने कहा कि अब घर में सिर्फ मैं और मम्मी हैं, हमारा अब कोई नहीं है. लोग हमारे साथ कितने दिनों तक रहेंगे. अब सबसे बड़ा सवाल हमारी सुरक्षा का है. पुलिस अभी तक गौरव को पकड़ नहीं पाई है. अगर वह पकड़ा भी गया तो जमानत पर फिर से छूट जाएगा. तब हमें उससे कौन बचाएगा?

देश में महिला के खिलाफ अपराध के आंकड़े

चलो इस सवाल के बहाने उत्तर प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों पर नजर डालते हैं. 2019 के आंकड़ों के मुताबिक, भारत में महिलाओं के खिलाफ हुए अपराध के मामले में 4,05,861 केस दर्ज हुए हैं. इनमें से 59,853 मामले यूपी में दर्ज हुए हैं. यानी प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ औसतन 164 अपराध रोजाना हुए हैं.

पिछले साल सितंबर में हाथरस में हुए जघन्य गैंगरेप की घटना सामने आने के बाद उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था सवालों के कटघरे में खड़ी हो गई थी. सीएम योगी आदित्यनाथ महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराध करने वाले दोषियों पर तुरंत कार्रवाई करने की बात करते हैं. लेकिन अपराधियों के हौसलों को देखकर ऐसा नहीं लगता है.

यह भी पढ़ें- एंटीलिया केस: मनसुख हिरने की मौत पर उठे सवाल, आज आएगी पोस्टमार्टम रिपोर्ट, मिलेंगे सभी सवालों के जवाब?

 

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

135FansLike

Latest Articles